न्यामयालय

    • पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय

पंजाब एवं हरियाणा उच्‍च न्‍यायालय भारत के हरियाणा व पंजाब राज्‍य और संघ शासित प्रदेश चण्‍डीगढ़ का सांझा उच्‍च न्‍यायालय है, जो चण्‍डीगढ़ में ही स्थित है। 21 मार्च, 2015 को उच्‍च न्‍यायालय में 55 न्‍यायाधीश हैं, जिनमें से 45 स्‍थायी और 10 अतिरिक्‍त न्‍यायाधीश हैं। यहां के पूर्व न्‍यायाधीश जगदीश सिंह खेहर सर्वोच्‍च न्‍यायालय में उच्‍च पद पर हैं। न्‍यायालय भवन ‘न्‍याय महल’ के रूप में जाना जाता है। ली-कारबुजिए द्वारा डिज़ाइन किए गए इस भवन एवं उनके अन्‍य कई कार्यों को जुलाई, 2016 में यूनेस्‍को विश्‍व ध्‍रोहर स्‍थल के रूप में मान्‍यता प्रदान की गई है।

    • जिला एवं सैशन न्‍यायालय, चण्‍डीगढ़

जिला न्‍यायालय, चण्‍डीगढ़ 01।11।1966 को स्‍थापित हुआ तथा श्री जसमेर सिंह पहले जिला एवं सैशन न्‍यायाधीश, चण्‍डीगढ़ नियुक्‍त किए गए, जबकि श्री सोहन लाल वर्मा यहां के प्रथम उप-न्‍यायाधीश प्रथम श्रेणी बने। पहले जिला न्‍यायालय परिसर, सैक्‍टर-17, चण्‍डीगढ़ में 20 कोर्ट चल रहे थे, जिन्‍हें 25।01।2013 नए जिला न्‍यायालय परिसर, सैक्‍टर-43, चण्‍डीगढ़ में स्‍थानांतरित किया गया। वर्ष 2014 में अतिरिक्‍त जिला एवं सैशन न्‍यायाधीश के 4 कोर्ट एवं सिविल न्‍यायाधीश (जूनियर डिविज़न) के 6 कोर्ट मिलाकर 10 कोर्ट बनाने के बाद आज यहां न्‍यायालयों की संख्‍या बढ़कर 30 हो गई, जिनका विवरण इस प्रकार है : जिला एवं सैशन न्‍यायाधीश का 1 कोर्ट; अतिरिक्‍त जिला एवं सैशन न्‍यायाधीश के 9 कोर्ट (सीबीआई मामलों के लिए 1 विशेष कोर्ट एवं महिलाओं के विरूद्ध जघन्‍य अपराधों के मामलों के लिए 1 फास्‍ट  ट्रैक वि‍शेष कोर्ट सहित); सीजेएम का 1 कोर्ट एवं 18 अधीनस्‍थ कोर्ट (एनआई अधिनियम की धारा 138 के अंतर्गत मामलों की सुनवाई के लिए 2 विशेष कोर्ट)। यह न्‍यायालय परिसर सैक्‍टर-43, चण्‍डीगढ़ में सिथत है और यहां आईएसबीटी, चण्‍डीगढ़ से पैदल आया-जाया जा सक‍ता है। चार मंजिला न्‍यायालय परिसर में कुल 31 कोर्ट रूम हैं। जिला बार संघ में प्रारंभ में 15-20 सदस्य थे, जिनका संख्‍या अब कई गुणा बढ़ गई है और वर्तमान में लगभग 3000 वकील जिला बार संघ में सदस्‍य के रूप में पंजीकृत हैं।

  • केंद्र सरकार औद्योगिक ट्रिब्यूनल सह श्रम न्यायालय