विधि एवं अभियोग

संगठनात्मक ढांचा

चंडीगढ़ प्रशासन के विधि विभाग के प्रमुख विधि परामर्शी हैं, जो विभाग के अध्यक्ष होते हैं तथा संघ शासित प्रदेश चंडीगढ़ के गृह सचिव एवं विधि सचिव विभाग के प्रशासनिक सचिव होते हैं। विभाग के पदक्रम में आगामी अधिकारी कोडीकरण एवं प्रकाशन अधिकारी होते हैं और उनकी सहायतार्थ विधि क्षेत्र से कानूनी अधिकारियों की टीम और प्रशासनिक ओर से अधीक्षक ग्रेड-।, वरिष्ठ सहायक, लिपिक एवं आशुलिपिक होते हैं जो प्रशासनिक कार्यों को देखते हैं।

विधि परामर्शी, चंडीगढ़ प्रशासन को अभियोग निदेशक के रूप में भी पदनामित किया गया है। अभियोग पक्ष में दो जिला न्यायविद, पांच उप-जिला न्यायविद और 14 सहायक जिला न्यायविदों की टीम है।

कार्य
चंडीगढ़ प्रशासन का विधि विभाग प्रशासन का प्रमुख कानूनी खंड है। विधि विभाग के प्रमुख कार्य निम्नलिखित हैं :

  1. विभिन्न कानूनी मामलों में सलाह देना।
  2. वैधानिक सूचनाओं की जांच करना।
  3. माननीय सर्वोच्च न्यायालय, पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय, चंडीगढ़ प्रशासनिक प्राधिकरण एवं राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग के समक्ष आने वाले मामलों के लिए सरकारी वकीलों की नियुक्ति करना।
  4. जिला न्यायाधीशों को माननीय जिला न्यायालय एवं उपभोक्ता फोरम के मामलों की वकालत के लिए निर्देश जारी करना।
  5. विभिन्न न्यायालयों/प्राधिकरणों में चंडीगढ़ प्रशासन के मामलों की पैरवी करने के लिए सरकारी वकीलों की सूची तैयार करना।
  6. चंडीगढ़ प्रशासन के कोर्ट केसों की निगरानी करना।