सामाजिक कल्याण

वर्ष 1978 में स्थापित यह विभाग अनुसूचित जाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, दिव्यांग-जनों, महिलाओं एवं बच्चों तथा समाज के अन्य पीड़ित वर्गों के कल्याण के लिए कार्यरत है। यह विभाग 1 नारी निकेतन और बाल सुधार न्याय अधिनियम के अंतर्गत 1 बाल सुधार गृह चला रहा है।

अनुसूचित जाति/जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए किए जाने वाले कार्यों में महिलाओं को प्रसव के बाद पोषण के लिए वित्तीय सहायता; अनुसूचित जाति के बच्चों के लिए स्कूल वर्दी की सिलाई का खर्च; अनुसूचित जाति एवं ओबीसी वर्ग के मेधावी विद्यार्थियों के लिए मुफ्त शिक्षा; अपनी बेटी अपना धन योजना; अनुसूचित जाति के लिए अवकाश शिविर; अंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहन; झुग्गियों एवं गंदी बस्तियों में रहने वाले अनुसूचित जाति के बच्चों में कौशल का विकास; बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के जीवन, लक्ष्य एवं कार्य पर संगोष्ठी; अत्याचारों के शिकार व्यक्तियों के लिए वित्तीय सहायता/पुनर्वास; पीसीआर अधिनियम को लागू करने के लिए तंत्र को मजबूत करना; अनुसूचित जातियों के लिए हाउसिंग स्कीम (डॉक्टर अंबेडकर आवास योजना) इत्यादि शामिल हैं।

महिलाओं एवं बच्चों की सामाजिक सुरक्षा एवं कल्याण के लिए भी कुछ योजनाएं प्रारंभ की गई हैं, जिनमें मुख्य हैं – कामकाजी माताओं के बच्चों के लिए क्रेच की सुविधा, आंगनवाड़ी केंद्र का निर्माण, बेसहारा एवं उपेक्षित बच्चों के लिए घर, विधवाओं एवं निराश्रित महिलाओं के लिए वित्तीय सहायता एवं नारी निकेतन की सुविधा इत्यादि।

दिव्यांगों के लिए छात्रवृत्ति योजना, पेट्रोल/डीजल पर सब्सिडी, कृत्रिम अंगों की व्यकवस्थाव, बेरोजगारी भत्ता, कंप्यूटर एवं ब्यूटी कल्चर इत्यादि में निशुल्क व्यावसायिक प्रशिक्षण आदि योजनाएं लागू की जा रही हैं। वृद्धों के लिए वृद्धावस्था पेंशन लागू की जा रही है तथा वरिष्ठ नागरिकों को पहचान पत्र भी जारी किए गए हैं। सरकारी सेवा के दौरान कर्मचारियों के लिए इस विभाग द्वारा अनुग्रह राशि जारी की जाती है। संघ शासित प्रदेश चंडीगढ़ में वृद्धों को आश्रय देने के लिए निम्नलिखित संस्थान कार्य कर रहे हैं :
सैक्टर 43, चंडीगढ़ में वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक घर स्थापित किया गया है, जिसे चंडीगढ़ शिशु एवं महिला विकास निगम द्वारा चलाया जा रहा है।
सैक्टकर 15, चण्डीढगढ़ में एक सरकारी भवन में वृद्ध एवं आश्रित लोगों के लिए एक आश्रम स्थापित किया गया है, जिसे लायंस क्लब चंडीगढ़ प्रबंधित कर रहा है।

चंडीगढ़ बाल एवं महिला विकास निगम लिमिटेड
चंडीगढ़ बाल एवं महिला विकास निगम लिमिटेड संघ शासित प्रदेश चंडीगढ़ में महिलाओं एवं बच्चों के आर्थिक विकास एवं कल्याण में संलग्न है। यह निगम विकलांग व्यक्तियों के कल्याण के लिए बनाई गई राष्ट्रीय विकलांग वित्त एवं विकास निगम कि एक मार्गदर्शी एजेंसी है। निगम ने स्वरोजगार के लिए ऋण उपलब्ध करवाए हैं तथा इसके द्वारा टेलरिंग कोर्स, ड्रेस डिजाइनिंग कोर्स, कंप्यूटर कोर्स, ब्यूटी कल्चर एवं स्टेनोग्राफी कोर्स में प्रशिक्षण उपलब्ध करवाया जा रहा है। निगम का एक सिलाई केन्द्रव भी है, जो सामान्य, सार्वजनिक, सरकारी संस्थानों एवं अन्य संगठनों से सिलाई का कार्य लेता है। यह निगम सैक्ट्र-24, चंडीगढ़ में कामकाजी महिलाओं के लिए एक छात्रावास भी चला रहा है, जिसमें 72 छात्राएं रह सकती हैं।

संपर्क विवरण

निदेशक सामाजिक कल्याण
चंडीगढ़ प्रशासन
टाउन हॉल एक्सटेंशन भवन
तीसरी, मंजिल सैक्टर-17, चंडीगढ़